पहचान

खुद से, जिंदगी से और खुशियों से

56 Posts

1777 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 3085 postid : 70

"विचित्र ख्वाब "

Posted On: 3 Nov, 2010 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

15-Suna-Hai-Kal-Ka-Mushaira

कल रात बड़ा ही विचित्र ख्वाब आया

हमें भी मुशायरे से न्यौता आया

सोचा लगना चाहिए टॉप का शायर

सिलवा लाया दरजी से  अचकन

मुशायरे में पहुंचे हम बनठन कर

वहां पहुँच दंग रह गए ये जानकार

सभी आज के शायर थे

वो पेंट कमीज में आये थे

सब हम को देख मुस्कुरा रहे थे

हम एक कोने में खड़े खिसियाय रहे थे

मुशायरा शुरू हुआ किसी शायर ने शेर पढ़ा

वाह वाह कहने का जैसे दौर चला

हर शायर वहां लाजवाब था

हम को छोड़ हर एक फनकार था

कोई नेताओं की बखिया उधेड़ रहा था

कोई पाकिस्तान के छक्के उड़ा रहा था

महफिल पुरे रंग में आई थी

तभी उदघोशक ने हम को आवाज लगायी थी

सोचा ऐसी गजल सुनायेंगे

लोग सदियों  न भूल पाएंगे

मगर ये क्या

मंच में जैसे ही पहुंचे

जेब से कागज़ का एक टुकड़ा निकला

ये क्या मैं तो जल्दबाजी में बिजली का बिल उठा लाया

तभी आवाजो का एक शोर उठा

मैं भी ख्वाबों से जाग पड़ा

खुदा न करे किसी दुश्मन को भी ऐसा ख्वाब आये

वो मुशायरे में गजल की जगह बिजली का बिल गाये

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

14 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ashvinikumar के द्वारा
November 4, 2010

प्रिय बहन,, प्रकाश पर्व की ढ़ेरों शुभकामनायें ,,(हर्ष ,प्रकाश ,विजय का पर्व तुम्हारे जीवन में ढ़ेरों खुशियाँ भर दे ) तुम्हे प्यार भी आभार भी *********(विशेष :-अपना मेल पासवर्ड बदल दो ,,)

    div81 के द्वारा
    November 12, 2010

    दादा पासवर्ड तो मैं बदल दूंगी मगर ऐसा क्या हुआ मुझे समझ नहीं आया

Aakash Tiwaari के द्वारा
November 4, 2010

div जी, एक खूबसूरत रचना पर आपको ढेर सारी बधाई……. आपको और आपके पूरे परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं.. आकाश तिवारी http://aakashtiwaary.jagranjunction.com

    div81 के द्वारा
    November 12, 2010

    आकाश जी , शुक्रिया आपको और आपके पूरे परिवार को भी हमारी तरफ से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं आप का जीवन दीपो की टिमटिमाहट और पटाखों से भरपूर खुशियाँ रहे |

Ritambhara tiwari के द्वारा
November 4, 2010

आदरणीय दिव जी! दिवाली और इस पोस्ट की हार्दिक बधाई!

    div81 के द्वारा
    November 12, 2010

    ऋतंभरा जी शुक्रिया

abodhbaalak के द्वारा
November 4, 2010

दिव जी, सदा की तरह उत्कृष्ट रचना, पर इस बार आपने हास्य रस को चुना है. और अंत में, आपको सपरिवार दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाये http://abodhbaalak.jagranjunction.com

    div81 के द्वारा
    November 12, 2010

    अबोध जी होसला अफजाई के लिए शुक्रिया दीपावली की शुभकामनाये उम्मीद कराती हूँ मिठाश और रोशनियों से भरपूर हो दीपावली आप की

siddequi के द्वारा
November 4, 2010

दिव्या जी अभिवादन, अछि रचना. बधाई. आपको व सभी ब्लोगर्स को दीपावली की शुभ कामनाएं ।

    div81 के द्वारा
    November 12, 2010

    आप को भी हमारी तरफ से दीपावली की शुभकामनाये देरी के लिए क्षमा चाहूंगी |

kmmishra के द्वारा
November 4, 2010

दिव्या जी आपको व सभी ब्लोगर्स को धनतेरस और दीपावली की शुभ कामनाएं । मिठाईयों से दूर रहियेगा और पटाखे थोड़ी दूरी से फोड़ियेगा । आभार ।

    div81 के द्वारा
    November 4, 2010

    मिश्रा जी आप को भी दीपावली की शुभकामनाये | मिठाई से तो दूरी बना ली है और पटाखे का मजा मैं दूर से देख कर लेती हूँ अपनी जेब हलकी नहीं करती |

Piyush Pant, Haldwani के द्वारा
November 3, 2010

खुदा न करे किसी दुश्मन को भी ऐसा ख्वाब आये वो मुशायरे में गजल की जगह बिजली का बिल गाये मनोरंजक प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाई…………….लाजवाब रचना……….. आपको और आपके पुरे परिवार को हमारी और से दिवाली की हार्दिक बधाई ……….. ये दिवाली आपके और आपके परिवार को ढेरों खुशियाँ दे…………..

    div81 के द्वारा
    November 4, 2010

    पियूष जी ये दीपावली आप और सभी अपनों के जीवन में रौशनी से भरी खुशिया और धमाकेदार सफलता लाये दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये


topic of the week



latest from jagran